NCERT Solutions for Class 11 Hindi Core – काव्य भाग – चंपा काले-काले अच्छर नहीं चीन्हती

Top afd

NCERT Solutions for Class 11 Hindi Core – काव्य भाग – चंपा काले-काले अच्छर नहीं चीन्हती

NCERT Solutions for Class 11 Hindi Core – काव्य भाग – चंपा काले-काले अच्छर नहीं चीन्हती


NCERT Solutions for Class 11 Hindi Core – काव्य भाग – चंपा काले-काले अच्छर नहीं चीन्हती





चंपा काले काले अच्छर नही चीन्हानी                      .            (त्रिलोचन)


कविता के साथ

प्रश्न 1. चंपा ने ऐसा क्यों कहा कि कलकत्ता पर बजर गिरे?

उत्तर - चंपा नहीं चाहती थी कि उसकी शादी के बाद उसका पति धन कमाने के लिए कलकत्ता जाए । कोलकाता उसके परिवार को तोड़नेवाला है, उसे उसके पति से अलग करनेवाला है वह ऐसे कोलकाता या महानगर को सहन नहीं कर सकती इसलिए वह कहती है कि कोलकाता पर वज्र गिरे ।



प्रश्न 2 . चंपा को इस पर क्यों विश्वास नहीं होता कि गांधी बाबा ने पढ़ने लिखने की बात कही होगी ?


उत्तर - चंपा ने दो बातें सुन रखी हैं - 1 .पढ़ना लिखना बुरी बात है । 2 .गांधी बाबा अच्छे मनुष्य है इस कारण वह विश्वास नहीं कर पाती कि गांधी बाबा जैसे अच्छे मनुष्य ने पढ़ने-लिखने जैसी बुरी बात कही होगी ।


प्रश्न 3 .कवि ने चंपा की किन विशेषताओं का उल्लेख किया है ?


उत्तर - कवि ने चंपा की निम्नलिखित विशेषताओं का उल्लेख किया है क. भोलापन। ख. शरारती स्वभाव I ग. मुखर स्वभाव मन की बातों को बिना छिपाए सीधे मुंह पर कहना । घ. आत्मीयता परिवार के साथ मिलकर रहने की भावना । विद्रोही - कष्ट देने वाले के प्रति खुला विद्रोह ।


प्रश्न 4 . आपके विचार में चंपा ने ऐसा क्यों कहा होगा कि मैं तो नहीं पढ़ूंगी ?


उत्तर - मेरे विचार से चंपा के मन में यह बात बैठी हुई है कि पढ़े-लिखे लोग अच्छे मनुष्य नहीं होते वह चालाक, घमंडी,और कपटी हो जाते हैं प्राय : अनपढ़ों को गँवार समझ कर छोड़ जाते हैं इस कारण उसने मन में दृढ़निश्चय कर लिया है कि वह पढ़ - लिखकर कपटी नहीं बनेगी ।


कविता के आस - पास


प्रश्न 1. यदि चंपा पढ़ी - लिखी होती, तो कवि से कैसे बातें करती ?


उत्तर - चंपा पढ़ी - लिखी होती तो वह लेखक की उसकी योग्यता के लिए उचित सम्मान देती। मैं उससे बड़े प्रेम, सम्मान, और विनम्रता से बातें करती तब उसकी बातों से विद्रोह नहीं, श्रद्धा व्यक्त होती ।


प्रश्न 2 .इस कविता में पूर्वी प्रदेशों स्त्रियों कि किस विडंबनात्मक स्थिति का वर्णन हुआ है ?


उत्तर - इस कविता में पूर्वी प्रदेश की स्त्रियों की अनपढ़ता और उनके अपने प्रिय से दूर रहने की विवशता का वर्णन हुआ है। वे अनपढ़ हैं उनके गांव में रोजगार नहीं है। आता उनके पतियों को रोजगार के लिए कोलकाता जैसे महानगरों में जाना पड़ता है उनकी विडंबना यह है कि वे पति की चिट्ठी को पढ़ भी नहीं पाते और अपना संदेश लिखकर भी नहीं भेज पाते अतः वह घुट - घुटकर जाती है


प्रश्न 3. संदेश ग्रहण करने और भेजने में असमर्थ होने पर एक अनपढ़ लड़की को किस वेदना और विपत्ति को भोगना पड़ा है अपनी कल्पना से लिखिए |

उत्तर - अनपढ़ लड़की को अनेक मानसिक विपत्तियों मैं से गुजरना पड़ता हैl वह अपने परिवार और पति से दूर रहने पर बेबस हो जाती है वह न तो पत्र लिखकर अपने माता - पिता या पति को हालचाल दे सकती है न ही उनकी चिट्ठी पढ़कर उनका हालचाल जान सकती है यदि वह किसी और से चिट्ठी लिखवा ले तो भी अपने मन की सारी प्रेम - भरी बातें और वियोग के दुख को नहीं बदला सकती। अकेले में उसकी सबसे बड़ी पीड़ा तो अकेलापन को लेकर होती है। वह उसे अन्य किसी के साथ नहीं बाँट सकती। इसीलिए उसके मन की बातें मन में ही रह जाती है। इसी प्रकार वह अपने पति की प्रेम-भरी चिट्ठी भी किसी दूसरे से पड़वा ने में संकोच अनुभव करती है। कुछ स्त्रियां तो इस कारण बिल्कुल अकेली हो जाती हैं 


मिलता है





आरोह भाग -1








10 Post a Comment

और नया पुराने