नई कविता की विशेषता

नई कविता की विशेषता


नई कविता -

प्रयोगवादी कविता के आगे का दौर नई कविता के रूप में उभरा है।नई कविता स्वतंत्रा के बाद लिखी गई वह कविता है जिसमें नवीन भाव बोध ,नए मूल्य और नया शिल्प विधान है।

नई कविता की विशेषताऐं-

1-नई कविता के कवियों ने यथार्थ का चित्रण किया है|

2-नई कविता जीवन के प्रत्येक क्षण को सत्य मानती है|

3-नई कविता के कवियों ने मानव की निराशा कुंठा व संत्रास का 
मनोवैज्ञानिक ढंग से चित्रण किया है|

4-नए प्रतीक रूप क  तथा उपमानो की नई भाषा शिल्प में अभिव्यक्ति हुई है|

5-इस काल में मानव जीवन की विसंगतियों अनैतिकतावादी मान्यताओं पर व्यंग रचनाएं लिखी गई हैं.|



नई कविता के प्रमुख कवि

भवानी प्रसाद मिश्र - सन्नाटा, गीत फरोश, चकित है दुख

दुष्यंत कुमार- सूर्य का स्वागत, आवाजों के घेरे

श्रीकांत वर्मा- मगध, माया दर्पण

जगदीश गुप्त- नाव के पॉव ,बोधि वृक्ष




Keyword-

Nai Kavita ki visheshtaen class 10th nai Kavita ki visheshtaen, nai Kavita ke kavi nai Kavita ki pramukh visheshta nai Kavita ke pramukh pravartak nai Kavita ke kavi kaun hai nai Kavita ke lekhak class 12th nai Kavita ki visheshta nai Kavita ki visheshtaen Hindi mein 

2 Comments

Post a Comment

Previous Post Next Post