महाकाव्य और खंडकाव्य में अंतर है?

महाकाव्य और खंडकाव्य में अंतर है?

महाकाव्य और खंडकाव्य में  अंतर है?




महाकाव्य-महाकाव्य में किसी महापुरुष के समस्त जीवन की कथा होती है।
इसमें अनेक सर्ग होते हैं। महाकाव्य में अनेक शब्द प्रयुक्त होते हैं। प्रधान रस श्रृंगार रस, शांत अथवा वीर रस होता है। इसमें प्रमुख कथा के साथ-साथ प्रासंगिक कथाएं भी जुड़ी होती हैं।


नई कविता की विशेषताएं लिखिए



जैसे-  रामायण- तुलसीदास

        कामायनी -जयशंकर प्रसाद
        साकेत -मैथिलीशरण गुप्त
        प्रिय प्रवास -अयोध्या सिंह उपाध्याय, हरि ओम

खंडकाव्य-खंडकाव्य  की कथा की सबसे बड़ी विशेषता है, कि वह अपने आप में पूर्ण होती है ।इसमें पूरी जीवन की झांकी ना होकर जिंदगी के किसी एक पहल का वर्णन किया जाता है ।समस्त रचना एक ही छंद में बंधी होती है। सीमित कलेवर में भी यह पूर्ण होता है।


प्राचीन भारत के दो महाकाव्य

        महाकाव्य और खंडकाव्य में  अंतर है?        महाकाव्य-

महाकाव्य में जीवन का सामग्र चित्रण होता है।

इसमें पात्रों की संख्या अधिक होती है।

इसमें अनेक रसों का  वर्णन होता है ।

इसमें अनेक शब्दों का प्रयोग होता है।


इसमें कई सर्ग या खंड होते हैं ।

इसमें मू ल कथा के साथ  अन्य प्रासंगिक कथाएं भी जुड़ी होती हैं I

जैसे-  

1 टिप्पणियां

Tq so much ❤️

टिप्पणी पोस्ट करें

Tq so much ❤️

नया पेज पुराने